मंगलवार, 6 सितंबर 2011

क्षणिकाए जो मेरे दिल मै आ गयी

कल; रात मेरी उदासियो का सिलसिला जारी रहा
में ने जो अपनी दस्ता बदलो को सुनाई
वो रात दिन सिसकते रहे धरा को भिगोते रहे
में जिन्दगी जीने की फिर एक कोशिश में
चेहरे में मुस्कान का मुखोटा लगा
फिर जीने का नया अकुर रोप दिया गीली धरा में .ritu
रिश्तो की डोर को तोड़ता है ये पैसा
प्यार को दुश्मन में बदलता है ये पैसा
आदमी को इंसानियत से दूर ले जाता है ये पैसा
रिश्तो को भीड़ में अकेला करता है ये पैसा
हम से तो वो अकेले ही अच्छे भीड़ में भी तनहा नहीं
भाई को भाई कहने से रोकता है ये पैसा
दूसरो के लिए बहुत है अपनों के लिए कम है ये पैसा
परेशानियों में ही रिश्तो की पहचान दिखता है ये पैसा,ritu

3 टिप्‍पणियां:

बेनामी ने कहा…

Best backlinks and website traffic service - we post your custom post up to 100'000 forums worldwide price starting only from $29
Get large online web traffic using best backlink service available. We can post your marketing post up to 100’000 forums around the web, get thousands of backlinks and amazing targeted online web traffic in very short time. Most affordable and most powerful service for web traffic and backlinks in the world!!!!
Your post will be published up to 100000 forums worldwide your website or blog will get instant traffic and massive increase in seo rankings just after few days or weeks so your site will get targeted long term traffic from search engines. Order now:
backlinks

Point ने कहा…

nice mam

बेनामी ने कहा…

You have some really useful information published here. Good job and keep posting superb stuff. Payday Loan