शुक्रवार, 18 अक्तूबर 2013

       
               
        
                 उन के  प्यार  के   विश्वास  में  हम  उन की दुनिया में अपना पग  बढ़  लिए  
                 इतने  डूबे  हुवे  थे  पग  के नीचे  बिछे  काँटों  पर  नजर  पड़ी  ही नहीं  . ऋतु

2 टिप्‍पणियां:

Aparna Sah ने कहा…

aksaran yesa hi hota hai.....

Aparna Sah ने कहा…

aksaran yesa hi hota hai..